रम्मी कैसे खेलते हैं हिंदी में

रम्मी कैसे खेलते हैं हिंदी में

time:2021-10-28 00:00:46 सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी Views:4591

हैप्पी डेज़ कैसीनो लेकवुड वा रम्मी कैसे खेलते हैं हिंदी में 188bet पेंटिप,casumo ज़हल्ट निक्ट औस,lovebet 2 टीम परले,एंड्रॉइड के लिए lovebet,lovebet पंजीकरण लिंक,lovebetी द विंडी गोरिल्ला,बैकारेट 3 टियर स्टीमर,baccarat là gì,सर्वश्रेष्ठ 3 रील स्लॉट,भ पोकर क्लब,कैसीनो फ्रांस,चा फुटबॉल मैदान,क्रिकेट 3डी छवि,क्रिकेट स्कोर लाइव भारत बनाम इंग्लैंड,एस्पोर्ट्स लाउंज,फुटबॉल 2021 विश्व कप,फुटबॉल वेबसाइट स्पीड टेस्ट,ज्ञान फुटबॉल,जीतने के लिए बैकारेट कैसे खेलें,क्या बैकरेट ऑनलाइन खेलना सुरक्षित है,जंगल रम्मी अनलॉक,लाइव कैसीनो लाइटनिंग रूले,लॉटरी ड्रा इतिहास,लूडो लूडो,ओडिबेट्स भविष्यवाणियां,जोड़ों के लिए ऑनलाइन खेल,ऑनलाइन असली पैसे वाले जुआ खेल,परिमाच द्वारा,पोकर क्यू एस,रॉबर्ट की क्रिकेट बुक,रम्मी 2 इक्का राजा,रम्मीकल्चर जोकर,स्लॉट मशीन.us.freefiremobile,खेल फुटबॉल लाइव यूरोपीय कप,स्टैंड-अलोन बेटिंग गेम,सबसे अच्छा बोर्ड गेम,यूईएफए चैंपियंस लीग अंक,जो कैश गेम के लिए बेहतर है,21 बजे url,ऑनलाइन पैसे बनाएं lg,क्रिकेट की भविष्यवाणी करो google,गोवा लोकसभा सीट कितनी है,तीन पत्ती लकड़ी,बकरी योजना,बैटरी है,स्टेटस एटीट्यूड, .सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी

सैलरी स्‍ट्रक्‍चर में कई कंपोनेंट होते हैं. इनके बारे में समझ लेना अच्‍छा है. इनका इस्‍तेमाल टैक्‍स का बोझ घटाने में किया जा सकता है.
नई दिल्‍ली : सैलरी स्‍ट्रक्‍चर में कई कंपोनेंट होते हैं. इनके बारे में समझ लेना अच्‍छा है. इनका इस्‍तेमाल टैक्‍स का बोझ घटाने में किया जा सकता है. आइए, यहां उनमें से कुछ के बारे में जानते हैं.

हाउस रेंट अलाउंस
यह कॉस्‍ट टू कंपनी यानी सीटीसी का सबसे सामान्‍य कंपोनेंट है. किराये के मकान में रहने वाले लोग एचआरए पर एग्‍जेम्‍पशन क्‍लेम कर सकते हैं. फिर बाकी का हिस्‍सा टैक्‍सेबल रह जाता है.

आपके सीटीसी में अगर एचआरए नहीं है तो रेंट के पेमेंट के लिए डिडक्‍शन ग्रॉस टैक्‍सेबल इनकम में उपलब्‍ध होता है. यह कई सीमाओं के अधीन है. आप अगर अपने घर में रहते हैं तो एचआरए कंपोनेंट पूरी तरह टैक्‍स के दायरे में आता है.

इसे भी पढ़ें : क्‍या शेयर बेचने के एक हफ्ते के अंदर उन्‍हें फिर खरीदने पर टैक्‍स लगेगा?

वर्क फ्रॉम होम एक्‍सपेंस
अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है. कॉरपोरेट पॉलिसी के अनुसार, आपको इन रीइंबर्समेंट क्‍लेम करने के लिए कंपनी को जरूरी बिल देने होंगे.

लीव ट्रैवल कंसेशन (एलटीसी)
एलटीसी एग्‍जेम्‍पशन चार साल के ब्‍लॉक में दो बार देश में यात्रा करने पर उपलब्‍ध है. नया ब्‍लॉक 1 जनवरी, 2018 को शुरू हुआ था. बंदिशें लागू हैं. उदाहरण के लिए अगर आप हवाई जहाज से यात्रा कर रहे हैं तो यह इकनॉमी क्‍लास के किराये तक सीमित है. यह सबसे छोटे रूट पर लागू होता है. होटल और स्‍थानीय किराये के खर्च पर कोई छूट उपलब्‍ध नहीं है.

लीव इनकैशमेंट
अगर आप उपलब्‍ध अवकाश नहीं ले पाए हैं तो उन्‍हें भुना लेने का विकल्‍प है. आपकी कंपनी सिर्फ रिटायरमेंट या रेजिग्‍नेशन पर इसकी अनुमति दे सकती है. अधिकतम 3 लाख रुपये का लीव इनकैशमेंट लिया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : ईपीएफ के ब्याज पर टैक्‍स के दायरे से बाहर रहेगा पीपीएफ

लीव कैश वाउचर स्‍कीम
सरकार ने एलटीसी/एलटीए कैश वाउचर स्‍कीम शुरू की है. इसमें कर्मचारियों को एलटीसी/एलटीए के बदले कुछ खास तरह की खरीदारी पर छूट क्‍लेम करने की सहूलियत दी गई है. ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि कोरोना की महामारी के कारण कर्मचारी यात्रा करने में असमर्थ हैं. केंद्र सरकार ने 12 अक्टूबर को एलटीसी कैश वाउचर स्कीम का एलान किया था. इस घोषणा के मुताबिक केंद्र सरकार के कोई भी कर्मचारी 31 मार्च 2021 तक 12 फीसदी और उससे ज्यादा जीएसटी वाले सर्विस या गुड्स को खरीद कर इस स्कीम का फायदा उठा सकते हैं.

कर्मचारी भविष्‍य निधि (ईपीएफ)
पांच साल या इसके बाद तक लगातार सर्विस करने पर पीएफ से निकासी टैक्‍स फ्री है. हालांकि, नौकरी खत्‍म होने के बाद पीएफ अकाउंट बैलेंस में जमा रकम पर ब्‍याज टैक्‍स के दायरे में आता है. अगर 1 अप्रैल 2021 को या इसके बाद कर्मचारी का कॉन्ट्रिब्‍यूशन पीएफ में किसी साल में 2.5 लाख रुपये से ज्‍यादा होगा तो अतिरिक्‍त रकम के ब्‍याज पर टैक्‍स लगेगा.

ग्रेच्‍युटी
पांच साल लगातार नौकरी करने पर कोई कर्मचारी पेमेंट ऑफ ग्रेच्‍युटी एक्‍ट के तहत ग्रेच्‍युटी पाने का हकदार हो जाता है. इस पर 20 लाख रुपये तक छूट मिलती है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

सैलरी के कंपोनेंटवर्क फ्रॉम होमटैक्‍स बचतसैलरी स्‍ट्रक्‍चरकैश वाउचर स्‍कीमएलटीसी

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

इंदौर, 27 अक्टूबर (भाषा) स्थानीय सर्राफा बाजार में बुधवार को सोना 350 रुपये प्रति 10 ग्राम एवं चांदी के भाव में 550 रुपये प्रति किलोग्राम की कमी हुई। कारोबारियो के अनुसार मूल्यवान धातुओं के औसत भाव इस प्रकार रहे।सोना 49250 रुपये प्रति 10 ग्राम,चांदी 65850 रुपये प्रति किलोग्राम,चांदी सिक्का 775 रुपये प्रति नग।महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.सस्ती कीमत पर चाय का बढ़ता आयात चिंता का विषय: उद्योग निकाय

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) बिल गेट्स का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है। 28 अक्टूबर, 1955 को वाशिंगटन में जन्मे बिल ने वर्ष 1975 में पाल एलन के साथ मिलकर साफ्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की। तब कौन जानता था कि यह देखते ही देखते दुनिया की सबसे बड़ी साफ्टवेयर कंपनी बन जाएगी और गेट्स पर्सनल कंप्यूटर के क्षेत्र में क्रान्ति के अग्रदूत बनेंगे। उनकी तरक्की की रफ्तार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 32 साल पूरे होने के पहले ही 1987 में उनका नाम अरबपतियों की फ़ोर्ब्स की सूची में आ गया और कईदिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.शेयर बाजारों में दो दिन की तेजी थमी, सेंसेक्स 207 अंक टूटा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
बेटिंग बंगाराजू पूरी मूवी डाउनलोड

इंदौर, 27 अक्टूबर (भाषा) स्थानीय दाल चावल बाजार में बुधवार को चना की दाल में ग्राहकी मंगलवार की तुलना में बढ़िया रही। आज संयोगितागंज अनाज मंडी में व्यापारिक एसोसिएशन के चुनाव होने से व्यापार प्रभावित हुआ।दलहन चना (कांटा) 5100 से 5125,मसूर 7150 से 7200,तुअर (अरहर) निमाड़ी 5300 से 6100, तुअर सफेद (महाराष्ट्र) 6300 से 6400, तुअर (कर्नाटक) 6500 से 6700,मूंग 6900 से 7200, मूंग हल्की 6100 से 6500,उड़द 7000 से 7400, उड़द नया 5500 से 6500, उड़द हल्की 2500 से 4500 रुपये प्रति क्विंटल।दालतुअर (अरहर) दाल सवा नंबर 8500 से 8600,तुअर दाल फूल 8700 से 8900, तुअर दाल बोल्ड

रूले ऑनलाइन कैश गेम

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.

हैप्पी सिटी किसान हांगकांग

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) आयकर विभाग ने उच्च मूल्य के वित्तीय लेन-देन की सूची का विस्तार किया है। इसमें म्यूचुअल फंड की खरीद, विदेशों में पैसा भेजने के साथ-साथ अन्य करदाताओं के आयकर रिटर्न का ब्योरा शामिल है। यह करदाताओं के लिये उनके फॉर्म 26एएस में उपलब्ध होगा। फॉर्म 26एएस एक सालाना एकीकृत कर विवरण है जिसे करदाता अपने स्थायी खाता संख्या (पैन) का उपयोग करके आयकर वेबसाइट से प्राप्त कर सकते हैं। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने 26 अक्टूबर को आयकर कानून की धारा 285बीबी के तहत नए फॉर्म 26एएस में रिपोर्ट की गई जानकारी के दायरे का

खेल के जूते अमेज़न

कोलकाता, 27 अक्टूबर (भाषा) चाय बागान मालिकों के एक निकाय ने बुधवार को चाय के बढ़ते आयात पर चिंता व्यक्त की और कहा कि घरेलू इकाइयों की सुरक्षा के लिए विदेशों से आने वाली आयात की खेप के लिए न्यूनतम कीमत तय की जानी चाहिए। . भारतीय चाय संघ (आईटीए) ने कहा कि 2020 में आयात 2019 की तुलना में 47 प्रतिशत बढ़ा है जबकि चालू कैलेंडर वर्ष के पहले छह महीनों में पहले की समान अवधि के मुकाबले इसमें 176 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। बागान मालिकों

बकरी अनुसंधान केंद्र मथुरा

नौकरी जॉबस्पीक्स इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डिजिटल बदलाव की लहर में सूचना प्रौद्योगिकी-सॉफ्टवेयर क्षेत्र लगातार इससे बचा हुआ है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी