बैकरेट सिंगल नोट तकनीक

Publishing time:2021-10-28 00:02:20

रूले यूटलेग बैकरेट सिंगल नोट तकनीक betway मुफ्त डाउनलोड,fun88 भविष्यवाणियां,lovebet 5 यूरो,lovebet हंगरी,lovebet टेलीग्राम ग्रुप लिंक,3 रील स्लॉट फ्री प्ले,बैकारेट एंटी-केबल,बैकारेट आउटलेट,बेस्ट ऑफ फाइव फिंगर डेथ पंच,सट्टेबाज ऑनलाइन सट्टेबाजी,भारत में कैसीनो कानूनी,शतरंज और चेकर्स,उर्दू पीडीएफ में क्रिकेट की किताब,क्रिकेट कल मैच,यूरोपीय चैम्पियनशिप फुटबॉल,फुटबॉल सट्टेबाजी बाजार विश्लेषण,जी स्लॉट,खुश किसान तस्वीर,मैं lovebet.co.ke,जैकबॉक्स टीवी गेम्स,ला लीगा फुटबॉल फोरम,लाइव कैसीनो zuschauen,लॉटरी खेला परिणाम,लूडो जोन,ऑनलाइन कैसीनो 3 रील स्लॉट,ऑनलाइन गेम रूम,टेक्सास में कानूनी ऑनलाइन स्लॉट,पोकर 021,पोकर जीतने का क्रम,रूले अगला नंबर कैलकुलेटर,रम्मी दंगल,जल्दी मछली पकड़ने का जाल,असली पैसे देने वाले स्लॉट गेम,खेल ओटावा,तीन पत्ती खेल ऑनलाइन,नवीनतम यूरोपीय कप ऑड्स,वर्चुअल क्रिकेट क्लब,वाइल्डज़ फायर जोकर,jackpot को परिभाषित करो,करीना पर निबंध,क्रिकेट वर्ल्ड कप,छोटी कार,पांच स्कोर रेसिंग,बरसात या,रमी रूल्स इन हिंदी,स्टेटस नई, .सरसों, सोयाबीन में सुधार, बिनौला, सीपीओ और पामोलीन में गिरावट

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

सरसों, सोयाबीन में सुधार, बिनौला, सीपीओ और पामोलीन में गिरावट

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) विदेशी बाजारों में कमजोरी के रुख से दिल्ली मंडी में बुधवार को सीपीओ और पामोलीन में गिरावट का रुख रहा। दूसरी ओर देश में खुदरा मांग को पूरा करने के लिए छोटी पेराई मिलों की मांग बढ़ने से सरसों के साथ-साथ सोयाबीन की कीमतों में सुधार देखने को मिला। बाकी तेल-तिलहनों के भाव पूर्वस्तर पर बने रहे।

सूत्रों ने कहा कि मलेशिया एक्सचेंज में एक प्रतिशत की गिरावट है जबकि कल रात 1.25 प्रतिशत कमजोर रहने के बाद फिलहाल शिकॉगो एक्सचेंज 0.3 प्रतिशत कमजोर है। उन्होंने कहा कि विदेशी बाजारों में गिरावट के बीच स्थानीय तेल-तिलहन कीमतों पर भी दबाव रहा।

बाजार के जानकारों ने कहा कि आयातकों को पामोलीन के आयात पर 600 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से नुकसान है क्योंकि पहले अधिक आयात के कारण स्टॉक काफी मात्रा में है और आयातकों को अपने पैसे की जरूरत को पूरा करने के लिए आयात के भाव से कम कीमत पर अपना माल बेचना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि मलेशिया एक्सचेंज के कमजोर होने से सीपीओ और पामोलीन तेल के भाव में गिरावट रही। दूसरी ओर बिनौला की नयी फसल मंडियों में आना शुरू होने से इसके भाव भी टूटे हैं।

सूत्रों ने कहा कि मंडियों में सोयाबीन की आवक 10 लाख बोरी से घटकर 8.5 लाख बोरी रह गई है। सोयाबीन का जो भाव जुलाई में 10,700 रुपये क्विंटल के उच्चस्तर पर चल रहा था, नयी फसल आने के बाद वह आधे से भी ज्यादा टूटकर लगभग 5,300 रुपये क्विंटल रह गया है। आगे त्योहारों की छुट्टियों के कारण तेल संयंत्र वालों की मांग बढ़ी है जिससे सोयाबीन तेल- तिलहन में सुधार है।

सूत्रों ने कहा कि देश में लगभग 5,000 सरसों की छोटी मिलें हैं जो खुदरा मांग को पूरा करती हैं। इन मिलों की दैनिक सरसों खपत 15-25 बोरी की होती है। लेकिन त्योहारों और जाड़े की खुदरा मांग के बढ़ने से इन छोटी मिलों की दैनिक सरसों मांग बढ़कर 60-70 हजार बोरी की हो गयी है। इसके कारण सरसों तेल-तिलहन कीमतों में सुधार है। उन्होंने कहा कि देश में विशेषकर उत्तर भारत में सरसों की मांग है जो आगे जाकर और बढ़ेगी।

सलोनी शम्साबाद में सरसों का भाव 9,250 से बढ़ाकर 9,300 कर दिया गया।

सूत्रों ने कहा कि नीचे भाव पर दीवाली की मांग निकलने के कारण मूंगफली तेल-तिलहन के भाव पूर्वस्तर पर बने रहे।

बाजार में थोक भाव इस प्रकार रहे- (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

सरसों तिलहन - 8,945 - 8,975 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये।

मूंगफली - 6,150 - 6,235 रुपये।

मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात)- 13,950 रुपये।

मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 2,040 - 2,165 रुपये प्रति टिन।

सरसों तेल दादरी- 17,925 रुपये प्रति क्विंटल।

सरसों पक्की घानी- 2,700 -2,740 रुपये प्रति टिन।

सरसों कच्ची घानी- 2,775 - 2,885 रुपये प्रति टिन।

तिल तेल मिल डिलिवरी - 15,500 - 18,000 रुपये।

सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 14,050 रुपये।

सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 13,650 रुपये।

सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 12,580

सीपीओ एक्स-कांडला- 11,510 रुपये।

बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 13,750 रुपये।

पामोलिन आरबीडी, दिल्ली- 13,000 रुपये।

पामोलिन एक्स- कांडला- 11,830 (बिना जीएसटी के)।

सोयाबीन दाना 5,250 - 5,400, सोयाबीन लूज 5,100 - 5,200 रुपये।

मक्का खल (सरिस्का) 3,825 रुपये।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis
Logistics

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis

4 mins read
China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.
R&D

China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.

9 mins read
As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles
Insurance

As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles

11 mins read
सरसों, सोयाबीन में सुधार, बिनौला, सीपीओ और पामोलीन में गिरावट

जब संस्‍थान में किसी कर्मचारी को नौकरी छोड़ने के लिए कहा जाता है तो वे आमतौर पर चौंक जाते हैं. लेकिन, कई मामलों में इसके संकेत पहले से मिलने लगते हैं. बात सिर्फ इतनी होती है कि कर्मचारी इन संकेतों का मतलब समझकर सुधार की दिशा में कदम नहीं उठा पाते हैं. आइए, यहां ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं.नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) सरकार को भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) से वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 6,665 करोड़ रुपये का अंतिम लाभांश मिला है। निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) सचिव तुहिन कांत पांडे ने बुधवार को ट्विटर पर लिखा, ‘‘वित्त वर्ष 2020-21 के लिए सरकार को बीपीसीएल से 6,665 करोड़ रुपये का अंतिम लाभांश मिला। इसमें विशेष रूप से मार्च 2021 में नुमालीगढ़ रिफाइनरी में बीपीसीएल की हिस्सेदारी की बिक्री पर मिला विशेष लाभांश शामिल है।’’ मार्च में, बीपीसीएल ने असम में नुमालीगढ़अरविंद लि. को दूसरी तिमाही में 71 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) कपड़ा बनाने वाली प्रमुख कंपनी अरविंद लिमिटेड को चालू वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर में 71.06 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ। अरविंद लि. ने बुधवार को शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि कंपनी को पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही के दौरान 5.86 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। कंपनी की परिचालन आय जुलाई-सितंबर 2021 के दौरान 2,115.14 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले इसी अवधि में 1,305.17 करोड़ रुपये के मुकाबले 62.05 प्रतिशतदेश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.कितनी सेफ है आपकी जॉब? खतरों के इन 7 संकेतों के बारे में जान लें

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


ऑनलाइन गेम्स प्ले फ्री
lovebet टिकट कोड चेकर
वाइल्डज़ मुफ्त कैसीनो
रम्मी कैसे खेले इन हिंदी
तीन पत्ती नया गेम
lovebet बी. हिलेगास
खेल चाचा
lovebet यूएसएसडी कोड
फास्ट 3
रम्मीकल्चर प्ले १३ कार्ड रम्मी
स्लॉट्सडेलन 9
नवीनतम फुटबॉल स्कोर
फ़ुटबॉल सट्टेबाजी का जीतना लगभग तय है
चेस प्लेयर नाम
लियोवेगास पेरू
बैकारेट में कार्ड कैसे गिनें
फुटबॉल बिब्स
betway का matlab
राशि चक्र लाइव कैसीनो
लाइव रूले बेल्जियम
रश टैंगो मछली पकड़ने का लालच
फलों का स्लॉट
बैकरेट की प्रायिकता
जैकपॉट बुधवार अमेज़न
मोबाइल सट्टेबाजी कब फिर से शुरू होगी
स्पोर्ट्स वाली ब्रा
स्टेटस ईद मुबारक